झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2020: Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए झारखंड सरकार द्वारा राज्य की ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA) शुरू कर दिया गया है. Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan की शुरुआत 29 सितंबर 2020 को राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी द्वारा किया गया है. इस योजना से झारखंड सरकार राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को स्वरोजगार से जुड़ना चाहती है ताकि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा सके. आज हम आपको अपने प्ले के माध्यम से ASHA Yojana In Hindi के बारे में सभी तरह की जानकारियां जैसे की योजना के लिए पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, कैसे करें यह सभी जानकारियां प्रदान करेंगे.

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने कहा कि 17 लाख परिवारों तक आजीविका के अवसर प्रदान करने हेतु ASHA अभियान का शुभारंभ किया गया है. योजना के अंतर्गत उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है पलाश ब्रांड के उत्पादों से झारखंड वासियों को बाजार से जुड़ने का मौका मिलेगा. तथा उन्होंने यह भी कहा कि वह खुद अपने घर में हमारी झारखंड की बहनों द्वारा बनाए गए उत्पादों का उपयोग करेंगे.इसके साथ ही फूलो झानो आशीर्वाद अभियान (Phulo Jhano Ashirwad Abhiyan) का शुभारंभ और पलाश ब्रांड (Palash Brand) का अनावरण मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा किया गया.

Overview of Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

  • योजना का नाम – आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA योजना)
  • शुरू की गई योजना – मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा
  • लाभार्थी – राज्य की महिलाएं
  • योजना का क्षेत्र – समस्त झारखंड
  • बजट का प्रावधान – 1200 करोड़ रुपए
  • आधिकारिक वेबसाइट

फूलो-झानो आशीर्वाद योजना का उद्देश्य

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के तहत हड़िया-दारु के निर्माण एवं बिक्री से जुड़ीं ग्रामीण महिलाओं को चिह्नित कर सम्मानजनक आजीविका के साधनों से जोड़ा जायेगा. सरकार का कहना है कि राज्य की 15 हजार से ज्यादा हड़िया-दारु निर्माण एवं बिक्री से जुड़ीं महिलाओं का सर्वेक्षण मिशन नवजीवन (Mission Navjivan) के तहत कार्य किए जाएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि चयनित महिलाओं को इच्छा अनुसार वैकल्पिक स्वरोजगार एवं आजीविका से जोड़ने का कार्य किया जाएगा. इसके अतिरिक्त फूलो-झानो आशीर्वाद योजना के तहत महिलाओं को काउंसलिंग कर मुख्यधारा के आजीविका से जोड़ने का कार्य किया जाएगा.

ASHA Yojana In Hindi अन्य जानकारियां

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के तहत राज्य सरकार का कहना है कि 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को आजीविका के साधन से जोड़ा जाएगा. योजना के अंतर्गत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर भी ग्रामीण महिलाओं को प्रदान किए जाएंगे. अब हम आपको बताएंगे कि आप किन-किन उत्पादों के तहत कार्य कर सकते हैं.

  • कृषि आधारित आजीविका
  • पशुपालन
  • वनोपज संग्रहण
  • वनोपज प्रसंस्करण
  • उद्यमिता

ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार

झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड में अब कोई भी महिला सड़क पर हरिया दारु बेजती नहीं दिखेगी कोई भी महिला हरिया दारु बनाने और बेचने का कार्य मजबूरी में करती है तथा सरकार ने यह लक्ष्य रखा गया है योजना के अंतर्गत सरकार ने राज्य की ग्रामीण महिलाओं को रोजगार और स्वरोजगार के नए साधन उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई है ताकि राशि की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा सके.

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट
  • पासपोर्ट पासपोर्ट

(भू नक्शा) Bhu Naksha Jharkhand

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

योजना की शुरुआत अभी थोड़े दिनों पहले ही हुई है जैसे ही योजना के लिए आवेदन शुरू होंगे हम आपको आधिकारिक वेबसाइट का ऑफिशियल लिंक प्रदान कर देंगे. योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी वेबसाइट के साथ बने रहे.

अंत में दोस्तों आज हमने आपको झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान की जानकारी दी आर्टिकल से जुड़े कोई भी प्रश्न आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य उत्तर देंगे धन्यवाद पोस्ट को शेयर करना ना भूले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *