(Rs. 7,000) Mera Pani Meri Virasat Yojana Status 2021 Application Form

Mera Pani Meri Virasat Yojana Status 2021: हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल के द्वारा बृहस्पति वार को कहा गया कि सरकार के द्वारा शुरू की गई फसल विविधीकरण योजना मेरा पानी मेरी विरासत के तहत पोर्टल पर Online Registration किया जा रहा है. जिसके तहत किसान विद्युतीकरण योजना के तहत हो पाई जाने वाली फसलों के लिए प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए 25 जून तक पंजीकरण करवा सकते हैं. कृषि मंत्री जेपी दलाल है यह भी बताया कि राज्य सरकार के द्वारा प्रदेश मैं गिरते हुए भूजल स्तर के दृष्टिगत फसल विविधीकरण योजना (Mera Pani Meri Virasat Yojana) शुरू की गई.

हरियाणा सरकार के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा राज्य के किसानों को पानी की समस्या का समाधान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं| इसी के चलते मुख्यमंत्री जी ने भावी पीढ़ी के लिए पानी उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से “मेरा पानी- मेरी विरासत” योजना की शुरुआत कर दी गई है| Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत हर सीजन में धान के स्थान पर अन्य किसानों को 7000 प्रति एकड़ की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी| Mera Pani Meri Virasat Yojana शुरू करने का उद्देश्य को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने कहा कि हम अपने आने वाली पीढ़ी को विरासत में पानी लेकर जाएं| ताकि उन्हें जल संकट का सामना ना करना पड़े| बस इसी एक उद्देश्य से Mera Pani Meri Virasat Yojana की शुरुआत की गई है|

Mera Pani Meri Virasat Yojana Registration

Haryana government has introduced Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021. Those farmers who want to avail the benefits under Haryana Mera Pani Meri they can fill online application form and register themselves at agriharyanaofwm.com portal. Under mera Pani Meri Virasat Yojana state Government of Haryana is going to provide financial incentive of 7,000 per acre to switch from paddy cultivation to other crops like maize, arhar, urad, guar, cotton, bajra, til etc. Those farmers who want to avail the benefit for Mera Pani Meri Virasat Yojana Status read out the whole article till the end.

दोस्तों Mera Pani Meri Virasat Yojana के बारे में अधिक जानकारी देते हुए हम आपको बता रहे हैं कि पहले चरण में राज्य के 19 नए ब्लॉक शामिल किए गए हैं जिनमें भूजल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है| इनमें से 8 ब्लॉक में धान की रोपाई ज्यादा है | जिससे पानी की बहुत ही अधिक खपत होती है| मेरा पानी मेरी विरासत योजना का उद्देश्य हम अपने आने वाली पीढ़ी को विरासत में पानी देकर जाएं उन्हें जल संकट का सामना ना करना पड़े | मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसानों से अपील किया कि धान पानी से तैयार होने वाली फसलें जैसे कि:-(मक्का, अरहर, गवार, तिल, ग्रेशम मूंग अन्य फसलों की बुवाई करें)

Mera Pani Meri Virasat Yojana Status
मेरा पानी मेरी विरासत योजना

Information Table of Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021

योजना का नाममेरा पानी मेरी विरासत योजना
शुरू की गई योजनामुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा
योजना की शुरुआत6 मई 2020
उद्देश्यजल ही जीवन है अभियान
अन्य फसल उगाने पर सहायता राशि7,000 रुपए
लाभार्थीराज्य के किसान
योजना की देखरेखजल संरक्षण विभाग द्वारा

मेरा पानी मेरी विरासत योजना को शुरू करने का उद्देश्य

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे देश में हरियाणा ए कृषि प्रधान राज्य है प्रतिवर्ष यहां पर धान की खेती की जाती है| आप सभी जानते होंगे कि धान की खेती करने के लिए पानी की बहुत ही अधिक खपत होती है जिससे राज्य में कई ऐसी जगह हैं जहां पर पानी का जमीनी जलस्तर काफी नीचे चला गया है| जिससे कि आने वाली पीढ़ी के लिए पानी की दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है इसलिए मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है जिससे कि पानी को बचाया जा सके और धान की खेती के अलावा अन्य विकल्प खेतिया करने पर लोगों को ₹7000 की राशि प्रदान की जाएगी|

Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021 Application Form हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा में फसलों की अधिक पैदावार करते समय पानी की बर्बादी को देखते हुए मेरा पानी मेरी बारासत योजना की शुरुआत कर दी गई है योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा उन प्रश्नों को छोड़ने का निर्णय लेने वाले किसानों को अन्य विकल्प फसलों की बुवाई के लिए 7000 रुपए प्रति एकड़ देने प्रोत्साहन का निर्णय किया गया है. भविष्य में पानी से जुड़ी समस्याओं को खत्म करने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई है.

Mera Pani Meri Virasat Yojana Online Registration

Mera Pani Meri Virasat Yojana, state Government of Haryana providing all the benefits and major initiative starter for the farmers betterment. This is a first ever crop diversification scheme for saving every drop of water. Interacting with farmers during his visit to Kurukshetra Chief Minister Manohar Lal Khattar said that at present the groundwater level is reached below 40 in many blocks, Which is a matter of concern. Government has formulated Mera Pani Meri Yojana under crop diversification to conserve water. If you want to know more about mera Pani Meri glass of Yojana then you have to read out whole article till the end.

Mera Pani Meri bra per Yojana, we all know that Haryana government has taken recommendable step for the farmers and state people. This is a first ever kind initiative that started by Haryana government towards saving ground water. If you want to know more and apply online for Haryana Mera Pani Meri Prasad Yojana then read this whole article till the end.

CM Manohar Lal Khattar says their views on Mera Paani Meri Virasat Scheme

  • जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है योजना का उद्देश्य है कि आने वाली भाभी पीढ़ी के लिए जल संरक्षण करना|
  • Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसल होने पर किसानों को 7000 रुपए प्रति एकड़ की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी|
  • जल ही जीवन है के नारे को आगे बढ़ाते हुए हरियाणा सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई है|
  • धान की खेती के अलावा आप मक्का, अरहर, कपास, बाजरा, तिल तथा ग्रीष्म मूंग का इस्तेमाल कर सकते हैं|
  • इसके साथ सरकार ने योजना को शुरू करते हुए ऐलान किया है कि ऐसी पंचायत क्षेत्र के किसानों को नहीं दी जाएगी|
  • मनोहर लाल खट्टर जी ने कहा कि मैं आश्वस्त करता हूं कि सरकार हर कदम किसानों के हित के साथ खड़ी है|
  • धान की फसल उगाने पर यदि किसान micro lrrigation की व्यवस्था करते हैं सरकार की तरफ से 85 अनुदान दिया जाएगा|
  • ऐसे किसान जो एक निश्चित स्थान की खेती करना छोड़ते हैं तो उन्हें के तौर पर 7000 प्रति एकड़ के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी|

मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2021 पात्रता

मेरा पानी मेरा विरासत योजना के अंतर्गत राज्य सरकारें किसानों के लिए आर्थिक मदद प्रदान कर रही है. Mera pani Meri Virasat Yojana Regstration के माध्यम से राज्य के किसानों को ₹7000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है. इस योजना का संचालन हरियाणा सरकार के द्वारा कई स्थानों पर पानी का लेवल कहां हो रहा तथा राज्य के किसानों को सिंचाई के लिए अतिरिक्त खर्च करना पड़ रहा है. इसी बात को लेकर राज्य सरकार के द्वारा मेरा पानी देरी विरासत योजना का भरत किया गया.

हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों को धान की बुवाई न करने पर 7000 रुपए प्रति एकड़ के तहत प्रोत्साहन दिया जाएगा| आप सभी जानते हैं कि हरियाणा सरकार द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है जिसका नाम मेरा पानी मेरी विरासत योजना है मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी ने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए इस योजना की शुरुआत की है जैसा कि आप सभी जानते हैं कि धान की बुवाई के लिए बहुत अधिक पानी का इस्तेमाल होता है जिससे राज्य में कई जिलों पर पानी की किल्लत हो गई है धान की खेती छोड़ने से पानी की किल्लत में कमी आएगी तथा ऐसी फसलों का सहारा लिया जाएगा जो कम पानी पर दबा देती हैं|

  • आवेदन करने वाला हरियाणा राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए|
  • योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को मिलेगा जो धान की खेती छोड़कर मक्का, मूंग, तेल कपास की खेती करते हैं|
  • Mera Pani Meri Virasat Yojana का उद्देश्य हम अपने आने वाली पीढ़ी को विरासत में पानी देकर जाए ताकि उन्हें जल संकट का सामना ना करना पड़े|

मेरा पानी मेरी विरासत योजना जरूरी दस्तावेज

New Updates:- हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने भावी पीढ़ी के लिए जल संरक्षण करने के उद्देश्य से मेरा पानी मेरी विरासत नामक फसल विविधीकरण योजना कारगर साबित हो रही है. अब तो किसानों ने मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर 1,18,128 हेक्टेयर क्षेत्र का रजिस्ट्रेशन कराया है ताकि वे धान के स्थान पर कम पानी से तैयार होने वाली अन्य फसल की बुवाई कर सकें, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जयप्रकाश दलाल ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि योजना के तहत चयनित 8 लोगों में 41 एकड़ से अधिक भूमि पर 41 प्रदर्शन खेत स्थापित किए हैं ताकि किसानों को इस की अधिक से अधिक जानकारी दी जा सके

  • आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • किसान कार्ड
  • किसान क्रेडिट कार्ड
  • पहचान पत्र

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कांटेक्ट नंबर

How to apply online for Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana?

दोस्तों ध्यान दीजिए इस योजना की शुरुआत 6 मई 2020 को की गई है| यदि आप योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे प्रदान किए गए तरीकों को फॉलो करें|

  • सबसे पहले आपको अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा|
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपको ” फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करें” के ऑप्शन का चुनाव करना|
  • उसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा|
  • अब आपको अपना आधार कार्ड नंबर डालना होगा|
  • तथा नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें, उसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपको पूछी गई जानकारियों को भरना होगा|
  • सभी जानकारियां ध्यान पूर्वक करने के बाद तथा दस्तावेजों का संकलन करने के बाद, सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा|
  • इस तरह आप आसानी से इस योजना का लाभ ले सकते हैं|

आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न?

  • प्रथम प्रश्न – Mera Pani Meri Virasat Yojana सब्सिडी का प्रावधान?
  • उत्तर – योजना के अंतर्गत हरियाणा सरकार द्वारा अन्य फसल उगाने पर 80% सब्सिडी प्रदान की जाएगी
  • दूसरा प्रश्न – हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना आवेदन कौन कर सकता है?
  • उत्तर – जिस भी जिले में किसान भाई के खेतों का जल स्तर 30 से 40 फीट नीचे चला गया है किसान आवेदन कर सकते हैं|
  • तीसरा प्रश्न – मेरा पानी मेरी विरासत योजना की सहायता राशि?
  • उत्तर – धान की खेती छोड़ने पर 7,000 रुपए सहायता राशि प्रदान की जाएगी|

आज आपको हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही Mera Pani Meri Virasat Yojana की जानकारी दी|आर्टिकल से जुड़े कोई भी प्रश्न आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य देंगे धन्यवाद

Leave a Comment

x
error: Content is protected !!