[पंजीकरण/टोकन] यूपी गेहूं खरीद पोर्टल 2021: UP Gehu Kharid Portal |eproc.up.gov.in

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा राज्य के किसानों को ऑनलाइन करने के लिए UP Gehu Kharid Kisan Registration portal का शुभारंभ किया गया| Uttar Pradesh Gehu Kharid portal राज्य के किसानों को उनकी फसल राज्य सरकार को बेचने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है| इस पोर्टल का शुभारंभ उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा उन किसानों के लिए किया गया जो अपनी फसल राज्य सरकार को भेजना चाहते हैं| इस पोर्टल का नाम भी उत्तर प्रदेश ई क्रय प्रणाली पोर्टल रखा गया है| इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसान खुद का पंजीकरण कर सकते हैं तथा रवि की फसल गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर सरकारी एजेंसियों को भेज सकते हैं| आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से up गेहूं खरीद पोर्टल के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे|

UP gehu kharid portal launched by Uttar Pradesh government. eproc.up.gov.in portal launched with a main objective that those farmers who wants to sell their produce to the government agencies. So they have to get registered on up gehun kharid portal. Farmers are able to sell their crops to the government Agencies on minimum support price (MSP). If you want to know more about Uttar Pradesh gehun khareed Portal then read out our whole article till the end.

UP Gehu Kharid Portal

UP Gehu Kharid Portal

जैसा कि हम सब जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा ऐसी बहुत सी नई सरकारी योजनाओं का शुभारंभ किया गया है जिनका पूरा लाभ राज्य के गरीब परिवारों या फिर किसानों को प्रदान किया जाता है| दोस्तों जैसे कि हम सब जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा ऐसे बहुत से ऑनलाइन पोर्टल का शुभारंभ किया गया है जिसका लाभ राज्य के नागरिक या किसान ऑनलाइन माध्यम से उठा सकते हैं| उत्तर प्रदेश ई क्रय प्रणाली के माध्यम से गेहूं खरीद के विशेष इंतजाम किए गए हैं| जैसा कि आप सब जानते हैं रवि का सीजन आ गया है और कई राज्यों में गेहूं खरीद का कार्य भी शुरू हो चुका है| उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में कितने किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदने की कार्य शुरू कर रही है|

राज्य के जो भी किसान भाई अपनी फसल भेजना चाहते हैं वह खाद्य एवं रसद विभाग की क्रय प्रणाली के माध्यम से आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं| UP Gehu Portal Kharid Kisan Registration के माध्यम से गेहूं खरीद के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है| उत्तर प्रदेश ई क्रय प्रणाली के माध्यम से राज्य के जो भी किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी एजेंसियों को अपना गेहूं बेचना चाहते हैं ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं|

Highlights of UP Gehu Kharid Portal

योजना का नामगेहूं खरीद पोर्टल
प्रणालीई क्रय प्रणाली
शुभारंभउत्तर प्रदेश सरकार
विभागखाद्य एवं रसद विभाग
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
मुख्य लाभराज्य के किसानों
अधिकारिक वेबसाइटeproc.up.gov.in

उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली की विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इस साल के लिए गेहूं की खरीद के लिए 5500 खरीद केंद्र बनाए गए हैं|
  • तथा राज्य सरकार इस साल 55 लाख मैट्रिक टन गेहूं की खरीद का टारगेट रखा गया है|
  • उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा गेहूं खरीद 1925 रुपए प्रति क्विंटल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर रखी गई है|
  • जो राज्य के इच्छुक ईशान उत्तर प्रदेश युवा जन पोर्टल के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा कर ठोकर प्राप्त करना होगा|
  • मंडियों में अपनी उपज ले जाने से पहले सभी किसानों को अपवर्जन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होगा|
  • राज्य के किसानों को पंजीकरण के बाद भुगतान लेने पर केवल उसी दिन मंडी आए जिस दिन का उनके पास टोकन है|

मुख्य दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • किसान की जमीन से संबंधित दस्तावेज
  • बैंक अकाउंट
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

UP Gehu Kharid Latest Updates:-

जैसा कि हम सब जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा राज्य में गेहूं खरीद के लिए गेहूं खरीद पोर्टल का शुभारंभ किया गया है राज्य के खाद्य एवं रसद विभाग की मेहनत रंग लाई है तथा भारत सरकार ने राज्य के खाद्य व रसद विभाग द्वारा प्रोजेक्ट डिस्टिक गवर्नमेंट उत्कृष्ट पाते हुए डिस्टल अवार्ड देने का निर्णय लिया है| बीएफ यह पुरस्कार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा प्रदान किया जाएगा, खाद्य आयुक्त मनीष चौहान ने बताया कि भारत सरकार के सूचना एवं तकनीकी मंत्रालय ने बिस्तर इंडिया अवार्ड के लिए सभी राज्य तथा मंत्रियों के विभागों में डिस्टलाइजेशन के चलाए जा रहे प्रोजेक्ट इनोवेटिव तकनीकी के संबंध में प्रोजेक्शन आमंत्रित किए थे| इसी के तहत राज्य के विभाग द्वारा कंप्यूटराइजेशन तकनीकी का प्रयोग करते हुए किसानों से गेहूं धान की खरीद करने संबंधी हेतु प्रोजेक्ट कब प्रोजेक्शन भारत सरकार की समझ गया था|

As we all know that it has introduced various online portal. Recently State Government of Uttar Pradesh has launched eproc.up.gov.in portal. On UP Gehu Kharid Portal state farmers are able to get various info regarding their pop and minimum support price. UP Gehu Kharid portal launched with the main objective for those farmers who wants to sell their produce to the government agencies. Only registered former under up gehu kharid portal are able to get benefits. Farmers are able to sell their produce crops.

[UPPOLICE] UP Police Pay Slip: Employee Salary Slip uppolice.gov.in

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021 कैसे करें?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी यूपी गेहूं खरीद पोर्टल पर जाकर किसान पंजीकरण करना चाहते हैं वह नीचे दिए गए तरीकों को फॉलो करें|

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश ई क्रय प्रणाली उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
Uttar Pradesh Gehu Kharid Portal
  • आधिकारिक दक्षिण पर जाने के बाद उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण का ऑप्शन दिखाई देगा|
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल जाएगा|
UP Gehu Kharid Portal
  • इस पेज में आपको पंजीकरण आवेदन पत्र को भरना होगा|
  • अब आपको सबसे पहले किसान मोबाइल नंबर तथा कैप्चा कोड को भरना होगा फिर आगे बड़े बटन पर क्लिक करें|
UP Gehu Kharid Portal

इसके बाद रवि फसल (UP Gehu Kharid) ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म में पूछे गए जानकारियां जैसे कि:

  • किसान का नाम
  • पता
  • मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड
  • पिता का नाम
  • पति का नाम
  • तहसील
  • जनपद
  • यह सभी जानकारियां करनी होगी| इन सभी जानकारियों को भरने के बाद पंजीकरण करेंगे बटन पर क्लिक करें|

यूपी गेहूं खरीद किसान पंजीकरण संशोधन

दोस्तों इस लिंक का प्रयोग आवेदक द्वारा गेहूं खरीद के लिए पंजीकरण फॉर्म तो भर इसमें यदि किसी भी तरह की कोई गलत इंफॉर्मेशन यह जानकारी भरी गई है तो उसका पंजीकरण संशोधन कैसे करें|

  • अगर आवेदक द्वारा गेहूं खरीद पोर्टल के लिए पंजीकरण फॉर्म भरते समय गलत जानकारी भरी गई है तो वह पंजीयन संशोधन के लिंक पर क्लिक करना होगा|
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जहां पर आपको मोबाइल नंबर तथा कैप्चा कोड भरना होगा|
  • इसके बाद आपके सामने पंजीयन फॉर्म खुल जाएगा जहां पर आपको पूछी गई सभी जानकारियों को भरना होगा|
  • इस तरह आप अपने पंजीकरण का संशोधन कर सकते हैं|

UP Kisan Panjikaran फॉर्म प्रिंट

  • राज्य के जो किसान जिन्होंने आवेदन पत्र भर दिया है तथा अपने आवेदन पत्र का प्रिंट निकालना चाहते हैं तो उनको पंजीकरण प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना है|
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने के नया पेज खुल जाएगा जहां पर आपको मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड भरना है|
  • यह सब जानकारियां बनने के बाद आपके सामने एक भरा हुआ आवेदन पत्र खो जाएगा जिस पर आप प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करके उसका प्रिंट निकाल सकते हैं|
उत्तर प्रदेश ई क्रय प्रणाली लॉक के बाद टोकन कैसे बनाएं?

UP गेहूं खरीद पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीयन भरने के बाद किसान भाइयों को मंडी में किस दिन कितने बजे जाना है इसका टोकन बनाना होगा| टोकन बनाने के लिए नीचे प्रदान किए गए तरीकों को फॉलो करें|

  • सबसे पहले आपको यूपी ई क्रय प्रणाली आधिकारिक Portal पर जाना होगा|
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज पर ” लॉक के उपरांत ओपन बनाएं” के ऑप्शन पर क्लिक करना है|
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको किसान पंजीकरण आईडी या फिर मोबाइल नंबर भरकर कैप्चा कोड भरना होगा|
  • यह सब जानकारियां भरने के बाद गेहूं खरीद हेतु ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा|
  • इसके बाद क्रय प्रणाली हेतु टोकन किसान को उसके मोबाइल नंबर पर प्राप्त होगा|
  • इस टोकन नंबर में उपज को लेकर किस दिन जाना है तथा किस समय पर मंडी में पहुंचना है दोनों अंकित होंगे|
  • तो इस तरह आप आसानी से लॉक के उपरांत टोकन बना सकते हैं|

FAQs: Frequently Asked Question

What is UP gehu kharid portal?

This portal launched by Uttar Pradesh government for farmers.

What are the benefits of uttar Pradesh gehu kharid portal?

Complete benefits of eproc.up.gov.in portal discussed in the above article.

How to apply for UP kisan registration?

Candidates can get registered them on eproc.up.gov.in portal.

Final Words: I hope you will get complete information regarding up gehun kharid portal. For more updated information stay in touch with us and get latest update.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x